सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी !! Interesting facts about Sachin Tendulkar in hindi 2021

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी !! Interesting facts about Sachin Tendulkar in hindi 2021



सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


1. सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 को मुंबई के दादर में रमेश जी तेंदुलकर के घर हुआ। तथा उनकी माताजी का नाम रजनी तेंदुलकर है।

2. इस बात को बेहद कम लोग ही जानते हैं कि सचिन तेंदुलकर अपने पिता रमेश तेंदुलकर की दूसरी पत्‍नी के पुत्र है। रमेश तेंदुलकर की पहली पत्‍नी से उनकी तीन संताने हुई, अजीत, नितिन और सविता तीनों सचिन तेंडुलकर से बड़े है।

3. एक बार सचिन तेंदुलकर छत पर खेल रहे थे तभी ऊपर से एक हैलीकाॅपटर गुजरा ओर उसकी वजह से उनकी उंगली कट गई थी।

4. सचिन तेंदुलकर के पिता रमेश तेंदुलकर प्रसिद्ध संगीतकार सचिन देव बर्मन के बहुत बड़े फ़ैन थे। और इसलिए उन्होंने अपने बेटे का नाम भी उन्हीं के नाम पर सचिन रखा था।

5. स्कूल टाइम में जब सचिन तेंदुलकर छोटे थे तब वह अपने दोस्तों के साथ वड़ा पाव खाने का कॉम्पीटीशन रखते थे। और कॉम्पीटीशन में सचिन तेंदुलकर ने कांबली को कई बार हराया था।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


6. जब सचिन तेंदुलकर स्कूल में पढ़ते थे तब उनके अच्छे दोस्त अतुल रानाडे ने उनके घुंघराले बाल की वजह से उन्हें लड़की समझ बैठे थे।

7. बचपन में जब सचिन तेंदुलकर नेट्स में पूरा सत्र बिना आउट हुए खेल लेते, तो उनके कोच ‘रमाकांत अचरेकर’ उन्हें एक सिक्का दिया करते थे। अभी सचिन के पास ऐसे 13 सिक्के हैं।

8. 1988 में मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेले एक दिवसीय अभ्यास मैच में सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के लिए फ़ील्डिंग की थी।

9. सचिन तेंदुलकर जब महज 14 साल के थे, तब उन्हे सुनील गवास्कर ने बहुत ही हल्के पैड तोहफे में दिए थे। अंडर-15 टीम के कैंप होने के दौरान इंदौर में उनके वे पैड चोरी हो गए थे।

10. तेज गेंदबाजों को भी दिन में तारे दिखाने वाले सचिन तेंदुलकर को नींद में चलने की बीमारी है। एक बार एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने खुद ही इस बात का खुलासा किया था। उनकी इसी आदत के कारण अकसर उनके घरवाले और टीम के साथी खिलाड़ी भी परेशान रहते हैं।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


11. वैसे आपको बता दे कि सचिन तेंडुलकर लेफ्ट हैंडर हैं। जी हां, यह सच है। हा मगर सचिन सीधे हाथ से बल्लेबाजी करते हैं। बॉलिंग भी वह सीधे हाथ से करते है  लेकिन ऑटोग्राफ देने या लिखने के लिए वे लेफ्ट हाथ का इस्तेमाल करते हैं।

12. डेनिस लिली और सचिन तेंदुलकर के रिश्ते पर काफ़ी चर्चा हुई है। M.R.F के फाउंडर डेनिस लिली ने ही सचिन को गेंदबाजी छोड़ बल्लेबाजी पर पूरा ध्यान देने की सलाह दी थी। मगर डेनिस लिली ने जिन खिलाड़ियों को तेज़ गेंदबाज़ बनने से मना किया उनमें सौरव गांगुली भी शामिल थे

13. एक बार 1995 में सचिन तेंदुलकर नकली मूंछ-दाढ़ी और चश्मा लगाकर फ़िल्म ‘रोजा’ को देखने चले गए थे, लेकिन गलती से उनका चश्मा गिर गया और उनका चश्मा गिरते ही सिनेमा हॉल में मौजदू लोगों ने उन्हें तुरंत पहचान लिया।

14. दिलचस्‍प बात यह है कि जब कभी भी सचिन तेंदुलकर टीम के साथ बस में बैठते हैं तो वे हमेशा पहली लाइन में बायीं तरफ की खिड़की वाली सीट पर ही बैठते हैं।

15. सचिन तेंदुलकर मात्र 14 साल की उम्र में ही मुंबई की रणजी टीम में शामिल हुए। इतनी कम उम्र में मुंबई की रणजी टीम में शामिल होने वाले वे पहले खिलाड़ी बने थे।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


16. सचिन तेंडुलकर ने अपने पहले टेस्ट मैच जो कि पाकिस्तान के ख़िलाफ़ था उस मैच को सुनील गावस्कर के द्वारा उपहार में मिले पैड्स को पहन कर खेला था।

17. 1996 के वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर के बैट पर किसी भी कंपनी का कोई भी लोगो नहीं था। वर्ल्ड कप के तुरंत बाद टायर बनने वाली कंपनी MRF ने उनसे करार कर लिया था।

18. सचिन तेंदुलकर ने रणजी, दलीप और ईरानी ट्राफ़ी के अपने पहले ही मैचों में शतक मारे है। ऐसा करने वाले वे भारत के एकमात्र बल्लेबाज़ बने थे और उनका यह रिकॉर्ड आज तक कोई भी नहीं तोड़ पाया है।

19. सचिन तेंदुलकर ने अपने ज्यादातर बड़े स्कोर भारतीय त्योहारों जैसे गोकुलाष्टमी, होली, रक्षा बंधन और दीपावली पर ही बनाए हैं। और त्योहारों पर यह स्कोर्स बनाकर उन्हे लोगो से काफी प्यार मिला है।

20. सचिन तेंदुलकर ने अपने पूरे टेस्ट करियर में कभी भी तीसरे नम्बर पर बल्लेबाजी नहीं की। बतौर सेकंड ओपनर वे 1 बार उतरे है।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


21. सचिन तेंदुलकर के नाम एक खास रिकॉर्ड दर्ज है। वे जिस भी रणजी में खेले हैं, वह टीम हर बार जीती है।

22. मगर एकमात्र रणजी मैच जिसमें सचिन तेंदुलकर हारी हुई टीम(मुंबई) का हिस्सा थे वह मैच हरियाणा के खिलाफ था।

23. सचिन तेंदुलकर जब भी बल्लेबाजी के लिये उतरते, मैदान पर कदम रखने से पहले ही वह सदैव सूर्य देवता को नमन करते और उसके बाद अपनी बल्लेबाजी की शुरुआत करते।

24. सचिन तेंदुलकर का क्रिकेट के प्रति लगाव का अनुमान एक घटना से लगाया जा सकता है। 1999 वर्ल्ड कप के दौरान जब उनके पिताजी की मृत्यु हो गई थी तो वह पिता की अन्त्येष्टि में शामिल हुए और वापस मैच खेलने के लिए लौट गये। अगले मैच में सचिन तेंदुलकर ने शतक ठोककर अपने दिवंगत पिता जी को श्रद्धांजलि दी थी।

25. सचिन तेंदुलकर अपनी फरारी के इतने दीवाने हैं कि वे अपनी पत्नी अंजली को भी इसे चलाने को नहीं देते।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


26. 1992 में थर्ड अंपायर द्वारा आउट दिए जाने वाले पहले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर है , डरबन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ खेले जा रहे इस टेस्ट मैच के दूसरे दिन जोंटी रोड्स के थ्रो के बाद यह मामला तीसरे अंपायर को रेफ़र किया गया था। थर्ड अंपायर कार्ल लाएबनबर्ग ने सचिन तेंदुलकर को आउट करार दिया था।

27. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सचिन तेंदुलकर पहली बार टीवी पर 1990 में दिखे इसके बाद वे कपिल देव के साथ कई विज्ञापनो में नज़र आए।  सचिन तेंदुलकर पहली बार टीवी पर एक दवा कंपनी के ‘प्लास्टर’ के विज्ञापन में नज़र आये थे।

28. सचिन तेंदुलकर के दीवाने बच्चे, महिलाएं, बुर्जुग हर उम्र के लोग हैं। यही वह क्रिकेटर है, जिसने क्रिकेट को घर-घर तक पहुंचाया है। कहा जाता है कि “सचिन तेंदुलकर के आउट होते ही आधा भारत अपना टीवी बंद कर देता था।

29. सचिन तेंदुलकर का बल्ला लगभग 1.5 किलोग्राम भारी होता था। इतना भारी बल्ला सिर्फ़ दक्षिण अफ्रीका के लांस क्लूजनर ही इस्तेमाल करते थे।

30. सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली को ‘बाबू मोशाय’ कह कर बुलाते थे और गांगुली उन्हे ‘छोटा बाबू’ कह कर पुकारते थे।

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी


31. सचिन तेंदुलकर के पिताजी रमेश तेंडुलकर ने सचिन तेंदुलकर को करियर की शुरुआत से पहले से ही शराब और सिगरेट के विज्ञापनों से दूर रहने की सलाह दी थी और सचिन ने भी अपने पिताजी से ऐसा न करने का वादा किया था। और उनका यह वादा आज तक निभा रहे हैं।

32. सचिन तेंदुलकर ने अपना, 5 हजार , 10 हजार और 15 हजार वां रन भारतीय जमीन पर पूरे किए हैं। और दिलचस्प तथ्य यह है कि उन्होंने अपना 5 हजार वां और 10 हजार वां रन ईडन गार्डन्स पर ही पूरे किए और दोनों अवसरों पर विरोधी टीम पाकिस्तान थी।

33. अब सचिन के रिटायरमेंट के बाद उनके बच्चे इंगलैंड से भी खेल सकते हैं। क्योकीं उनकी नानी अन्नाबेल इंग्लैंड की हैं।

34. भारत सरकार की तरफ़ से सचिन तेंदुलकर को पद्म विभूषण, राजीव गांधी खेल अवॉर्ड , महाराष्ट्र भूषण अवॉर्ड, पद्मश्री, अर्जुन अवॉर्ड और भारत रत्न द्वारा सम्मानित किया गया है।


और पढ़ें…

विराट कोहली से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी

Tags:-

Amazing facts about Ms dhoni in hindi

Interesting facts about Ms dhoni in hindi

Ms dhoni facts in Hindi 

सचिन तेंदुलकर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और जानकारी पढ़कर आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और ऐसे ही बेहतरीन तथ्य जानने के लिए हमसे जुड़ें रहे।


Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *